सोमवार, 9 अक्तूबर 2017

पुष्यमित्र  उपाध्याय की कविता है, 'सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो' । इसी कविता का दूसरा भाग भी प्रकाशित है। दोनों उपाध्यायजी के फेसबुक पेज से यहाँ प्रस्तुत हैं।

शुक्रवार, 3 जून 2011

nadi aur saabun

नदी और साबुन कविता का मलयालम अनुवाद

शनिवार, 7 मई 2011

बुधवार, 29 दिसंबर 2010

मंगलवार, 5 अक्तूबर 2010

नौटंकी - सुल्ताना डाकू

आपके लिए प्रस्तुत है, नौटंकी का एक नमूना।